Song Information:
Song: Bekhayali (Arijit Singh Version)
Movie: Kabir Singh (2019)
Singer – Arijit Singh
Music Director – Sachet-Parampara
Lyrics – Irshad Kamil
Music Produced By – Kalyan Baruah and Sachet – Parampara
Starring: Shahid Kapoor and Kiara Advani
Directed: Sandeep Reddy Vanga
Producer: Bhushan Kumar, MuradKhetani, Krishan Kumar & AshwinVarde
Released Date: 19 July 2019
Language: Hindi
Music Label: T-Series

Bekhayali Lyrics

Hmm… hmm..

Bekhayali mein bhi tera hi khayaal aaye
Kyun bichhadna hai zaroori ye sawaal aaye

Teri nazdeekiyon ki khushi behisaab thi
Hisse mein faasle bhi tere bemisaal aaye

Main jo tumse door hoon
Kyun door main rahu
Tera guroor hoon…

Aa tu faasla mita
Tu khwaab sa mila
Kyun khwaab tod doon…

Ooo…

Bekhayali mein bhi tera hi khayaal aaye
Kyun bichhadna hai zaroori ye sawaal aaye

Thoda sa main kahfa
Ho gaya apne aap se
Thoda sa tujhpe hi
Bewajah hi malal aaye..

Hain ye tadpan
Hain ye uljhan
Kaise jee loon bina tere
Meri ab sabse hain anban bannte

Kyun ye khuda mere oo..
Hmm…

Ye jo log bagh hain
Jungle ki aag hain
Kyun aag mein jaloon

Ye naakam pyaar mein
Khush hain ye haar mein
In jaisa kyun banoon

Ooo…

Raate dengi bata
Neendo mein teri hi baat hain
Bhuloon kaise tumhe
Tu toh khayalon mein saath hain

Bekhayali mein bhi tera hi khayaal aaye
Kyun bichhadna hai zaroori ye sawaal aaye
Ae ae…
Oooo…

Nazaron ke aage har ik manzar
Ret ki tarah bikhar raha hain
Dard tumhaara badan pe mere
Zeher ki tarah utar raha hain

Aa zamane aazmaale
Roothta nahi..
Faaslon se hausala ye
Toot ta nahi

Na hain wo bewafa
Aur na main hoon bewafa
Wo meri aadaton
Ki tarah chhut ta nahi..

Bekhayali Lyrics in Hindi

बेख़याली में भी तेरा ही ख़याल आए
“क्यूँ बिछड़ना है ज़रूरी?” ये सवाल आए
तेरी नज़दीकियों की खुशी बेहिसाब थी
हिस्से में फ़ासले भी तेरे बेमिसाल आए

मैं जो तुमसे दूर हूँ, क्यूँ दूर मैं रहूँ?
तेरा ग़ुरूर हूँ
आ, तू फ़ासला मिटा, तू ख़ाब सा मिला
क्यूँ ख़ाब तोड़ दूँ?

बेख़याली में भी तेरा ही ख़याल आए
“क्यूँ बिछड़ना है ज़रूरी?” ये सवाल आए
थोड़ा सा मैं ख़फ़ा हो गया अपने आप से
थोड़ा सा तुझपे भी बेवजह ही मलाल आए

है ये तड़पन, है ये उलझन
कैसे जी लूँ बिना तेरे?
मेरी अब सब से है अनबन
बनते क्यूँ ये खुदा मेरे?

ये जो लोग-बाग हैं, जंगल की आग हैं
क्यूँ आग में जलूँ?
ये नाकाम प्यार में, खुश हैं ये हार में
इन जैसा क्यूँ बनूँ?

रातें देंगी बता, नीदों में तेरी ही बात है
भूलूँ कैसे तुझे? तू तो ख़यालों में साथ है

बेख़याली में भी तेरा ही ख़याल आए
“क्यूँ बिछड़ना है ज़रूरी?” ये सवाल आए

नजरों के आगे हर एक मंज़र रेत की तरह बिखर रहा है
दर्द तुम्हारा बदन में मेरे ज़हर की तरह उतर रहा है
नजरों के आगे हर एक मंज़र रेत की तरह बिखर रहा है
दर्द तुम्हारा बदन में मेरे ज़हर की तरह उतर रहा है

आ, ज़माने, आज़मा ले, रूठता नहीं
फ़ासलों से हौसला ये टूटता नहीं
ना है वो बेवफ़ा और ना मैं हूँ बेवफ़ा
वो मेरी आदतों की तरह छूटता नहीं

Music Video of Bekhayali:

Playlist Of Kabir Singh:

Hindi Song Bekhayali Lyrics (Bekhayali Lyrics Arijit Singh Version) – Thank you for visiting our website. Our main purpose is to accurately convey what the visitors are looking for and wanting. We always provide fresh, genuine, inspirational, entertaining, and educational content to our visitors. So, be our NEPLYCH family members subscribe to our website, and follow us on different social networks.

Sharing is Caring!

Leave a Reply