Skip to content

Mujhe Peene Do 2.0 Lyrics – Darshan Raval

Share!

Song Information:
Song: Mujhe Peene Do 2.0
Singer & Composer: Darshan Raval
Lyrics: Gurpreet Saini & Gautam G. Sharma
Shayari: Mohtaaj (Gurpreet Saini)
Music Producer: Lijo George
Mixed and Mastered by Aftab Khan at Headroom Studio Mumbai
Director & Creative Director: Nishant Nayak
Producers: Fazila Allana, Kamna Nirula Menezes
Release Date: August 13, 2021
Music Label: Indie Music Label

Mujhe Peene Do 2.0 Lyrics

Dil toota to
Awaz badi der tak sunai di
Dil toota to
Awaz badi der tak sunai di

Kuch is tarah har tukde ne
Uski bewafai ki gawahi di
Main sambhalta bhi to aakhir kaise
Main sambhalat bhi to aakhir kaise

Mujhe kal mod par
Woh kisi aur ke sath dikhai di
Tere pyar ne
Sareaam badnaam kar diya mujhe
Sharaab ka ghulam kar diya mujhe
Na jee raha hoon na main mar saka

Aisa mera hashar hai ban gaya
Jo pehle maikhana tha

Woh ghar hai ban gaya
Ke ab to saaki ne bhi
Jaam ka hisaab na rakha
Dard hota hai dard hone do
Zakham gehra hai ise rehne do
Ankhein roti hai inhe rone do
Yaad aayi hai mujhe peene do

Raat aayi hai raat aane do
Nasha hota hai nasha hone do
Dil jalta hai dil jalne do

Yaad aayi hai mujhe peene do
Kasmein sab jhoothi hain
Vaade sab jhoothein hain
Lagta hai mujhse to
Rab saare roothein hain

Ghairon ke sang kaise
Hasne lagi ho
Meri to aankhon se
Aansu na sookhe hain

Raat aayi hai raat aane do
Nasha hota hai nasha hone do
Dil jalta hai dil jalne do
Yaad aayi hai mujhe peene do

Raat aayi hai raat aane do
Nasha hota hai nasha hone do
Dil jalta hai dil jalne do
Yaad aayi hai mujhe peene do

Mujhe peene do

Mujhe Peene Do 2.0 Lyrics in Hindi

दिल टूटा तो आवाज़ बड़ी देर तक सुनाई दी
दिल टूटा तो आवाज़ बड़ी देर तक सुनाई दी
कुछ इस तरह हर तुकड़े ने उसकी बेवफ़ाई की गवाही दी
मैं सँभलता भी तो आख़िर कैसे
मैं सँभलता भी तो आख़िर कैसे
मुझे कल मोड़ पर वो किसी और के साथ दिखाई दी

तेरे प्यार ने सर-ए-आम बदनाम कर दिया मुझे
शराब का गुलाम कर दिया मुझे
ना जी रहा हूँ, ना मैं मर सका

ऐसा मेरा हश्र है बन गया
जो पहले मयख़ाना था, वो घर है बन गया
कि अब तो साक़ी ने भी जाम का हिसाब ना रखा

दर्द होता है, दर्द होने दो
ज़ख्म गहरा है, इसे रहने दो
आँखें रोती हैं, इन्हें रोने दो
याद आई है, मुझे पीने दो

रात आई है, रात आने दो
नशा होता है, नशा होने दो
दिल जलता है, दिल जलने दो
याद आई है, मुझे पीने दो

क़समें सब झूठी है, वादे सब झूठे है
लगता हैं मुझसे तो रब सारे रूठे हैं
गैरों के संग कैसे हँसने लगी हो
मेरी तो आँखों से आँसू ना सूखे है

रात आई है, रात आने दो
नशा होता है, नशा होने दो
दिल जलता है, दिल जलने दो
याद आई है, मुझे पीने दो

रात आई है, रात आने दो
नशा होता है, नशा होने दो
दिल जलता है, दिल जलने दो
याद आई है, मुझे पीने दो

…मुझे पीने दो

Music Video of Mujhe Peene Do 2.0:

Playlist of Darshan Raval:


Share!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *