Skip to content

Jalwa Lyrics – CarryMinati Ft. Wily Frenzy

Share!

Song: Jalwa
Directed & Choreographed By – Rahul Shetty
Music Composed & Produced by – Wily Frenzy
Producers – Deepak Char & CarryMinati
Song & Lyrics – Ajey Nagar (CarryMinati)
Guitarist – Dhruv Yadav
Featuring: Vartika Jha
Asst Director’s – Ashish Sanade & Sonal vichare
Dop – Ujwal Gupta
Ac – Abhyanshu Chauhan
Dancers:- Susmita hazra, Ayantika Das, Priya Roy, Ambika kohli, Saloni Jaiswar, Tina sharma, Aishwarya, Priya das

Jalwa Lyrics

Yeh Yeh
Yeh Yeh

Yah Yah
Kate Kat Mere Dil Ke Sawal Hai.
Bhede Dil Ye Aisa Kamaal Hai
Zara Pucchu Aaj Kiska Khyal Hai
Raito Ki Rani Hai Kisse Kammal Hai

Surmay Bhari Wo Hai Bala
Dekh Ke Usko Zamaana Jala
Maya Ka Jaal Hai Uski Kala
Uske Isharo Pe Me Hu Chala

Jab Wo Chale Sansar Jhuke
Jab Wo Mude Tarani Bahe
Jab Hath Uthaye Aandhi Ruke
Jab Palken Jhukayen To Waqt Ruke

Darta Karta Fir Bhi Hai Mera Man
Naam Sunke Badh Jaye Dhadkan
Mitti Pe Pad Jaye Uske Kadam
Kar Dete Zami.. Ko Fir Se Naram

Jalwa… Teri Aankho Ka Deh Ye Jalwa
Mujhe Paas Bula Mat Sharmaa
Teri Yaad Me Roz Hu Jalta
Dikha De Tu Apna Jalwa

Teri Aankhon Ka Dekh Ye Jalwa
Mujhe Paas Bula Mat Sharmaa
Teri Yaad Me Roz Hu Tadpa
Dikha De Tu Apnaa

Samander Ke Jaise Badhti Lehar
Bawandar Ke Jaise Dhati Kehar
Sona Sa Chamke Hai Uska Badan
Chhu De Amrit Ban Jaye Zehar
Asli Ya Chehra Use Sab Hai Pata
Chal Hai Gehra Us Se Kuchh Na Chhipa
Dil Hai Jo Tehra Use Nahi Hai Pata
Kya Teri Maya Hai .. Zara Mujhe Bhi Bata

Dhundhu Ms Usko Kaha
Hothon Pe Jiske Lipta Jahan
Itna Dard Kyun Mene Saha
Jab Milne Hi The Dono Jahan

Ruk Gayi Meri Saans Bhi
Mehsoos Karne Ki Aas Bhi
Khul Ja Mujhme Jaise Chasni
Kat Gayi Hai Shali Raat Bhi

Jalwa…. Teri Aankhon Ka Dekh Ye Jalwa
Mujhe Paas Bula Mat Sharmaa
Teri Yaad Me Roz Hu Jalta
Dikha De Tu Apna Jalwa

Teri Aankhon Ka Dekh Ye Jalwa
Mujhe Paas Bula Mat Sharmaa
Teri Yaad Me Roz Hu Tadpa
Dikha De Tu Apna Jalwa

Jalwa Lyrics in Hindi

ये ये ये ये..
या या या या

काटे काट मेरे दिल पे ज़ुबान है
भेड़े दिल ये ऐसा कमाल है
साला पूछूँ आज किसका ख़याल है
रेतों की रानी है किसे कमाल है

सुरमय भरी वो है बाला
देख के उसको ज़माना जला
माया का जाल है उसकी कला
उसके इशारो पे मैं हूँ चला

जब वो चले संसार झुके
जब वो मुड़े तरुणी बहे
जब हाथ उठाये आंधी रुके
जब पलकें झुकाये तो वक़्त रुके

डरता करता फिर भी है मेरा मन
नाम सुन के बढ़ जाये धड़कन
मिट्टी पे पड़े जब उसके क़दम
कर दे सख़्त ज़मीन को फिरसे नरम

जलवा तेरी आँखों का देखे
ये जलवा
मुझे पास बुला मत शर्मा
तेरी याद में रोज़ हूँ जलता
दिखा दे तू अपना जलवा

तेरी आँखों का देख ये जलवा
मुझे पास बुला मत शर्मा
तेरी याद में रोज़ हूँ तड़पा
दिखा दे तू अपना

समुंदर के जैसे बढ़ती लहर
बवंडर के जैसे धाती केहर
सोने सा चमके है उसका बदन
छू दे तो अमृत बन जाये ज़हर

असली है चेहरा उससे सब है पता
जाल है गहरा उससे कुछ ना छुपा
दिल है जो ठेहरा उससे नहीं है पता
क्या तेरी माया ज़रा मुझे भी बता

ढूंढूँ मैं उसको कहाँ
होंठों पे जिसके है लिपटा जहाँ
इतना दर्द क्यूँ मैंने सहा
जब मिलने ही थे दोनो जहाँ

रुक गई मेरी सास भी
महसूस करने की आस भी
घुल जा मुझमें जैसे चाशनी
कट गई है ये साली रात भी

जलवा तेरी आँखों का
देखे ये जलवा
मुझे पास बुला मत शर्मा
तेरी याद में रोज़ हूँ जलता
दिखा दे तू अपना जलवा

तेरी आँखों का देख ये जलवा
मुझे पास बुला मत शर्मा
तेरी याद में रोज़ हूँ तड़पा
दिखा दे तू अपना

Jalwa Music Video


Share!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *